तेजस्वी यादव ने एनडीटीवी का वीडियो शेयर कर बताए ‘राष्ट्रवाद’ के मायने

1
- Advertisement -

तेजस्वी यादव- (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:

राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) के दौरान बिहार राज्य के विभिन्न शहरों में जाकर स्थानीय लोगों से जनसंपर्क कर रहे हैं. चुनावी रैली के दौरान उन्होंने एनडीटीवी से भी बातचीत की. रवीश कुमार से बात करते हुए उन्होंने बीजेपी के राष्ट्रवाद और आतंकवाद मुद्दे के बारे में विस्तार से चर्चा की. तेजस्वी यादव ने अपने ट्विटर के आधिकारिक अकाउंट पर एनडीटीवी का वीडियो शेयर करते हुए राष्ट्रवाद के मायने के बारे में अपने तरीके से बतलाए. बीजेपी सरकार पर निशाना साधते हुए कई मुद्दों बात की.

महाराष्ट्र में बोले PM मोदी- पिछड़ा होने के कारण कांग्रेस ने मुझे गालियां दी, अब चोर कह रहे हैं

हर हाथ में क़लम देना क्या राष्ट्रवाद नहीं है?
हर थाली में भोजन देना क्या राष्ट्रवाद नहीं है?
हर नौजवान को रोज़गार देना क्या राष्ट्रवाद नहीं है?
किसान की आय दुगुना करना क्या राष्ट्रवाद नहीं है?
शिक्षा,स्वास्थ्य,महँगाई,विकास जैसे असल मुद्दों पर विमर्श करना क्या राष्ट्रवाद नहीं है? pic.twitter.com/EagWrSNtzH

— Tejashwi Yadav (@yadavtejashwi) April 16, 2019

- Advertisement -

तेजस्वी ने ट्वीट में लिखा, ''हर हाथ में कलम देना क्या राष्ट्रवाद नहीं है? हर थाली में भोजन देना क्या राष्ट्रवाद नहीं है? हर नौजवान को रोजगार देना क्या राष्ट्रवाद नहीं है? किसान की आय दुगुना करना क्या राष्ट्रवाद नहीं है? शिक्षा, स्वास्थ्य, महंगाई, विकास जैसे असल मुद्दों पर विमर्श करना क्या राष्ट्रवाद नहीं है?'' इस वीडियो को शेयर करके उन्होंने अपने तरीके से राष्ट्रवाद के कई अलग-अलग मायने बताए. रवीश कुमार ने जब पूछा- 'ये कहते हैं कि राष्ट्रवाद और आतंकवाद एक मुद्दा है.' तब तेजस्वी बोले, ''क्या गरीब को पेट भरना, नौजवानों रोजगार देना, किसानों को आय देना राष्ट्रवाद नहीं हैं?''

आंधी-तूफान, बारिश का कहर: PM मोदी ने सिर्फ गुजरात को दिया मुआवजा तो कमलनाथ ने टोका, फिर करना पड़ा यह ऐलान

इस वीडियो के जरिए उन्होंने पीएम मोदी पर हमला बोलते हुए झूठ बोलने की फैक्ट्री बताई. उन्होंने कहा, ''मोदी जी की जितनी राजनीति है, सारी बनावटी, दिखावटी, सजावटी है. मोदीजी झूठ बोलने की फैक्ट्री, मैन्यूफैक्चर, डिस्ट्रीब्यूटर और होलसेलर भी हैं.'' अमूमन हर दिन 34 सभाएं करने वाले तेजस्वी अपने भाषण की शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलकर शुरू करते हैं, जिसमें उनका ज़ोर इस बात पर होता है कि यह चुनाव पार्टी या उम्मीदवार को जिताने के लिए नहीं है, बल्कि संविधान और आरक्षण को बचाने के लिए ज्यादा है. उसके बाद तेजस्वी जनता की नब्ज़ जानने के लिए प्रधानमंत्री मोदी द्वारा पिछले लोकसभा चुनाव में किए गए वादों के बारे में पूछते हैं.

टिप्पणियां

Video: बिहार के खगड़िया में तेजस्वी यादव के साथ रवीश कुमार

Source Article