डिप्टी गवर्नर के समर्थन में आए आरबीआई कर्मी, टकराव सार्वजनिक होने पर केंद्र नाराज

5
- Advertisement -

नई दिल्ली: रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया(RBI) और केंद्र की मोदी सरकार(Modi Govt) के बीच भी तनातनी की खबरें आने लगीं हैं. ऐसी खबरें डिप्टी गवर्नर विरल आचार्य (Dr Viral Acharya) के उस बयान के बाद आ रहीं हैं, जिसमें उन्होंने देश के इस केंद्रीय बैंक की स्वायत्तता को लेकर आवाज बुलंद की थी. इस बीच आरबीआई कर्मचारियों के संगठन ने डिप्टी गवर्नर का समर्थन किया है. न्यूज एजेंसी रॉयटर्स की मानें तो रिजर्व बैंक के डिप्टी गवर्नर के बयान के बाद टकराव सार्वजनिक होने से केंद्र सरकार परेशान और नाराज है. केंद्र को आशंका है कि इस वाकये से इनवेस्टर्स की नजर में देश की छवि खराब हो सकती है.
यह भी पढ़ें- आरबीआई नवंबर में लाएगा बाजार में 40,000 करोड़ रुपये की तरलता
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दफ्तर (पीएमओ) में तैनात एक अफसर ने पूरे घटनाक्रम को बेहद दुर्भाग्यपूर्ण बताया. कहा कि इस तरह से मामला सार्वजनिक नहीं होना चाहिए. केंद्र सरकार काफी परेशान है.हालांकि, सरकार को आरबीआई से तो ऐसी उम्मीद नहीं थी. रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक एक अन्य अफसर ने कहा कि सरकार आरबीआई की स्वायत्तता और स्वतंत्रता की की सम्मान करती है, मगर उन्हें अपनी जिम्मेदारियों से भी वाकिफ होना चाहिए. बता दें कि शुक्रवार को अपने एक 'विस्फोटक बयान' में डिप्टी गवर्नर आचार्य ने आरबीआई की स्वायतत्ता को कमजोर करने की सरकारी कोशिशों पर सवाल उठाए थे. कहा कि इससे बाजार और देश के आर्थिक हालात पर विपरीत असर पड़ सकता है. उनका यह बयान सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. आरबीआई में नंबर दो माने जाने वाले आचार्य ने यह बयान मुंबई में शीर्ष उद्योगपतियों के इवेंट में दिया और कहा कि उन्हें गवर्नर उर्जित पटेल (Urjit Patel) ने इस बात को उठाने के लिए सुझाव दिया था. उधर सोमवार को ऑल इंडिया रिजर्व बैंक एम्प्लाइज एसोसिएशन ने कहा-देश के केंद्रीय बैंक को कमजोर करने की कोशिशों का विरोध किया जाएगा.
यह भी पढ़ें- RBI के पूर्व गवर्नर राजन का खुलासा: PMO को भेजी थी बहुचर्चित बैंकिंग घोटालेबाजों की लिस्ट, मगर…
राहुल बोले-पटेल बचा रहे आरबीआई को
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी आरबीआई और सरकार के बीच विवाद की खबरों पर बयान दिया है. उन्होंने सोमवार को कहा कि यह देखना सुखद है कि आखिरकार आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल (Urjit Patel) केंद्रीय बैंक को पीएम नरेंद्र मोदी से ‘बचा रहे हैं.'उन्होंने कहा कि देश भाजपा-आरएसएस को संस्थाओं पर कब्जा नहीं करने देगा.पटेल और ‘टीम मोदी' के बीच टकराव की खबरों के बाद गांधी ने कहा कि गवर्नर के आरबीआई के बचाव में आने में कोई विशेष देरी नहीं हुई है.गांधी ने ट्वीट किया, “यह अच्छा है कि आखिरकार पटेल आरबीआई को ‘मिस्टर 56' से बचा रहे हैं। कभी नहीं से विलंब बेहतर। भारत भाजपा/आरएसएस को हमारी संस्थाओं पर कब्जा नहीं करने देगा.
टिप्पणियांवीडियो- नोटबंदी के बाद 99 फीसदी से ज्यादा नोट वापस लौटे
Source Article

- Advertisement -