ठांय-ठांय बोलकर बदमाशों को डराने वाले इंस्पेक्टर मनोज कुमार को दो बाइक सवारों ने मारी गोली

3
- Advertisement -

नई दिल्ली:

उत्तर प्रदेश के संभल में एक एन्काउंटर के दौरान अपराधियों को मुंह से 'ठांय-ठांय' बोलकर डराने की कोशिश में चर्चा में आए इन्सपेक्टर मनोज कुमार को दो बाइक सवार बदमाशों ने गोली मार दी है. संभल के एसपी यमुना प्रसाद ने बताया है कि दो बाइक सवारों ने इंस्पेक्टर मनोज कुमार की टीम पर फायरिंग कर दी जिसमें वह घायल हो गए हैं. वहीं जवाबी कार्रवाई में एक बदमाश भी घायल हुआ और दूसरा भागने में कामयाब रहा. घायलों को अस्पताल में भर्ती करवा दिया गया है. फिलहाल फरार हुए बदमाश को पकड़ने के लिए घेराबंदी शुरू कर दी गई है. आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के संभल में मुठभेड़ के दौरान बदमाशों की पुलिस घेराबंदी कर चुकी थी, मगर जैसे ही फायरिंग की बारी आई, बंदूक ने धोखा दे दिया और फायरिंग नहीं हो पाई. मगर मुठभेड़ जैसी स्थित में पुलिस के सामने बदमाशों को डराने के अलावा कोई दूसरा चारा नहीं था, इसलिए ऐसी स्थिति देख इंस्पेक्टर मनोज कुमारने बदमाशों में दहशत पैदा करने के लिए बंदूक से फायरिंग के बदले मुंह से ही 'ठांय-ठांय' की आवाज निकालनी शुरू कर दी.

Inspector Manoj Kumar who shouted 'thain thain' to scare criminals during an encounter in Sambhal on 12 Oct got injured yesterday during an exchange of fire between police & criminals in Sambhal. pic.twitter.com/GBDjI5OzQg

— ANI UP (@ANINewsUP) January 5, 2019

एसपी का बयान

Sambhal: SP Yamuna Prasad, "Two bike borne miscreants fired at police during which SI Manoj Kumar got injured. During counter-firing, a criminal was also injured. One criminal absconding. Injured have been taken to hospital." (04.01) pic.twitter.com/q1TIpI29qR

— ANI UP (@ANINewsUP) January 5, 2019

जब इंस्पेक्टर ने मुंह से बोला था ठांय-ठांय

#WATCH: Police personnel shouts 'thain thain' to scare criminals during an encounter in Sambhal after his revolver got jammed. ASP says, 'words like 'maaro & ghero' are said to create mental pressure on criminals. Cartridges being stuck in revolver is a technical fault'. (12.10) pic.twitter.com/NKyEnPZukh

— ANI UP (@ANINewsUP) October 13, 2018

- Advertisement -

रेल भर्ती के हों या यूपी पुलिस भर्ती के, कब तक होगा ऐसा

टिप्पणियां

हालांकि यह वीडियो सामने आने के बाद एएसपी का कहना था कि ' मारो और घेरो जैसे शब्दों का इस्तेमाल बदमाशों पर मानसिक दवाब पैदा करने के लिए किया गया. साथ ही उन्होंने कहा कि कार्ट्रिज के फंसने की वजह से रिवॉल्वर में तकनीकी खामी आ गई थी.

नोएडा पुलिस का विवादित नोटिस​

Source Article