ट्रंप ने कहा – पाकिस्‍तान ने खरबों डॉलर की सहायता ली पर मदद नहीं की, इमरान खान ने दिया जवाब

4
- Advertisement -

पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान (फाइल फोटो)

नई दिल्‍ली/इस्‍लामाबाद: अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तान को करोड़ों डॉलर की सैन्य सहायता रोके जाने के अपने प्रशासन के फैसले का बचाव करते हुए कहा कि पाकिस्तान अमेरिका के लिए कोई काम नहीं करता. अब इसका जवाब पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने दिया है. इमरान खान ने कहा कि पाकिस्‍तान की निंदा के खिलाफ ट्रंप के सामने रिकॉर्ड रखे जाने चाहिए. इमरान खान ने इसको लेकर लगातार तीन ट्वीट किए.
टिप्पणियां उन्‍होंने कहा कि 9/11 के हमले में कोई भी पाकिस्‍तानी शामिल नहीं था लेकिन पाकिस्‍तान ने अमेरिका के आतंक के खिलाफ लड़ाई में शामिल होने का फैसला किया. इस लड़ाई में 75000 से ज्‍यादा पाकिस्‍तानियों ने जान गंवाई और हमारे देश की अर्थव्‍यवस्‍था को 123 खरब डॉलर का नुकसान उठाना पड़ा. और अमेरिकी सहायता कितनी थी, मात्र 20 खरब डॉलर.

Record needs to be put straight on Mr Trump's tirade against Pakistan: 1. No Pakistani was involved in 9/11 but Pak decided to participate in US War on Terror. 2. Pakistan suffered 75,000 casualties in this war & over $123 bn was lost to economy. US "aid" was a miniscule $20 bn.

— Imran Khan (@ImranKhanPTI) November 19, 2018

हमारे कबाइली इलको बर्बाद हो गए और लाखों लोग बेघर हो गए. लड़ाई ने आम पाकिस्‍तानियों की जिंदगी को बुरी तरह प्रभावित किया. फिर भी पाकिस्‍तान अपने जमीनी और हवाई मार्ग उपलब्‍ध कराता रहा है. क्‍या ट्रंप अपने किसी ऐसे सहयोगी का नाम बता सकते हैं जिसने ऐसी कुर्बानियां दी हों?

3. Our tribal areas were devastated & millions of ppl uprooted from their homes. The war drastically impacted lives of ordinary Pakistanis. 4. Pak continues to provide free lines of ground & air communications(GLOCs/ALOCs).Can Mr Trump name another ally that gave such sacrifices?

— Imran Khan (@ImranKhanPTI) November 19, 2018

अपनी असफलताओं के लिए पाकिस्‍तान को बली का बकरा बनाने की बजाय अमेरिका को गंभीर मूल्‍यांकन करना चाहिए कि नाटो के 1,40,000 और 2,50,000 अफगान सौनिकों तथा 1 ट्रिलियन डॉलर अफगान युद्ध पर खर्च करने के बावजूद आज तालिबान पहले से ज्‍यादा मजबूत क्‍यों है.

Instead of making Pakistan a scapegoat for their failures, the US should do a serious assessment of why, despite 140000 NATO troops plus 250,000 Afghan troops & reportedly $1 trillion spent on war in Afghanistan, the Taliban today are stronger than before.

— Imran Khan (@ImranKhanPTI) November 19, 2018

पाकिस्‍तान अमेरिका के लिए कुछ नहीं करता
अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने रविवार को कहा था कि पाकिस्‍तान अमेरिका के लिए कुछ नहीं करता. ट्रंप द्वारा ने पाकिस्तान को करोड़ों डॉलर की सैन्य सहायता रोके जाने के अपने प्रशासन के फैसले का बचाव करते हुए रविवार को कहा कि पाकिस्तान अमेरिका के लिए कोई काम नहीं करता और वहां की सरकार ने अलकायदा सरगना ओसामा बिन लादेन को छिपने में मदद की थी. ट्रंप ने फॉक्स न्यूज को एक साक्षात्कार में लादेन और पाकिस्तान के एबटाबाद में उसके पूर्व ठिकाने का जिक्र करते हुए कहा, ‘‘जरा सोचिए…आप जानते हैं कि पाकिस्तान में रहना, पाकिस्तान में अच्छे से रहना.. मुझे लगता है कि उन्होंने इसे अच्छा भवन समझा होगा.'' उन्होंने कहा, ‘‘लेकिन पाकिस्तान में सैन्य अकादमी के ठीक बगल में रहना.. पाकिस्तान में हर कोई जानता था कि वह वहां पर है और हम पाकिस्तान को एक वर्ष में 1.3 अरब डॉलर दे रहे थे…. लादेन पाकिस्तान में रह रहा था, हम पाकिस्तान का समर्थन कर रहे थे. हम उन्हें एक वर्ष में 1.3 अरब डॉलर दे रहे थे… जो हम उन्हें अब नहीं दे रहे हैं. मैंने इसे समाप्त कर दिया क्योंकि वे हमारे लिए कुछ नहीं करते.''
Source Article

- Advertisement -