झारखंड में बच्ची से दुष्कर्म और हत्या मामले में दोषी को मौत की सजा

1
- Advertisement -

फाइल फोटो

नई दिल्ली:

झारखंड के गिरिडीह में एक विशेष पॉक्सो अदालत ने चार साल की एक बच्ची से दुष्कर्म करने और उसकी हत्या के मामले में एक व्यक्ति को मौत की सजा सुनाई है जबकि दोषी के पिता को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है. रामबाबू गुप्ता की पोक्सो अदालत ने शनिवार को पॉक्सो अधिनियम और भारतीय दंड संहिता की संबंधित धाराओं के तहत 27 वर्षीय रामचंद्र ठाकुर को मौत की सजा सुनाई और उसके पिता मधु ठाकुर को उम्र कैद की सजा सुनाई.

माता-पिता के साथ सो रही 9 महीने की बच्ची के साथ रेप, अपराधी को दो महीने के भीतर मिली मौत की सजा

अदालत ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से यह आदेश पारित किया. पॉक्सो के हालिया संशोधन में 12 साल से कम उम्र की लड़कियों से दुष्कर्म के मामले में दोषी को मौत की सजा सुनाई जाती है. पुलिस ने बताया कि जांच के दौरान पता चला था कि परसन गांव का रहने वाले ठाकुर ने पिछले साल 26 मार्च को बच्ची का दुष्कर्म किया था और उसका गला घोंटकर शव एक खेत में फेंक दिया था. ठाकुर बच्ची का पड़ोसी था.

- Advertisement -

टिप्पणियां
(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)Source Article