जामिया हिंसा पर बोली प्रियंका गांधी, ‘सुन लीजिए मोदी जी…आज नहीं तो कल सुननी ही पड़ेगी आवाज’

1

प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर निशाना साधा है.

नई दिल्ली:

दिल्ली के जामिया मिल्लिया इस्लामिया में नागरिकता कानून को लेकर हो रहे विरोध पर पुलिस कार्रवाई पर विपक्ष सरकार को जमकर कोसने में लगा है. इसी क्रम में कांग्रेस की महासचिव प्रियंका ने ट्वीट कर सरकार पर निशाना साधा है. प्रियंका ने लिखा, ''देश के विश्वविद्यालयों में घुस घुसकर विद्यार्थियों को पीटा जा रहा है. जिस समय सरकार को आगे बढ़कर लोगों की बात सुननी चाहिए, उस समय भाजपा सरकार उत्तर पूर्व, उत्तर प्रदेश, दिल्ली में विद्यार्थियों और पत्रकारों पर दमन के जरिए अपनी मौजूदगी दर्ज करा रही है. यह सरकर कायर है.''

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, ''जनता की आवाज़ से डरती है. इस देश के नौजवानों, उनके साहस और उनकी हिम्मत को अपनी खोखली तानाशाही से दबाना चाहती है. यह भारतीय युवा हैं, सुन लीजिए मोदी जी, यह दबेगा नहीं, इसकी आवाज़ आपको आज नहीं तो कल सुननी ही पड़ेगी.''

जामिया हिंसा : बीजेपी ने AAP विधायक को ठहाराया जिम्‍मेदार, केजरीवाल को बताया 'गद्दार'

इससे पहले रविवार को कांग्रेस ने सरकार पर देश में शांति बनाए रखने के अपने कर्तव्य को निभाने में नाकाम रहने और असम, त्रिपुरा और मेघालय के बाद दिल्ली तक को जलने के लिए छोड़ देने का आरोप लगाया. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता के. सी. वेणुगोपाल ने जामिया के छात्रों पर ''बर्बर कार्रवाई'' की निंदा करते हुए ''संयम'' बरतने की अपील की.

कांग्रेस ने अपने आधिकारिक टि्वटर अकाउंट पर कहा, ‘‘पूर्वोत्तर से लेकर असम, पश्चिम बंगाल और अब दिल्ली में. भाजपा सरकार देश में शांति बनाए रखने का अपना कर्तव्य निभाने में विफल रही. उसे जिम्मेदारी लेनी चाहिए और हमारे देश में शांति बहाल करनी चाहिए.''

जामिया में हुई घटना के बाद दक्षिणपूर्व दिल्ली के स्कूल सोमवार को रहेंगे बंद

टिप्पणियां

कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने पूछा, ‘‘क्या यह ठीक है कि भाजपा सरकार जामिया विश्वविद्यालय के पुस्तकालय और छात्रावास में घुस गई और युवाओं पर आंसू गैस छोड़े गये तथा उनकी पिटाई की. क्या छात्र नागरिकता कानून 2019 के खिलाफ प्रदर्शन नहीं कर सकते जो संविधान की आत्मा पर वार है.'' वेणुगोपाल ने ट्वीट किया, ‘‘मैं दिल्ली पुलिस की जामिया के निर्दोष छात्रों पर बर्बर कार्रवाई की कड़ी निंदा करता हूं. मैं सभी से संयम एवं शांति बरतने की अपील करता हूं.''

बता दें जामिया मिल्लिया इस्लामिया कैंपस में की गई पुलिस कार्रवाई के खिलाफ रविवार रात में छात्र बड़ी संख्या में दिल्ली पुलिस हेडक्वार्टर के सामने जमा हो गए. यहां छात्रों ने पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की. इसमें जामिया के छात्रों का समर्थन देने दिल्ली यूनिवर्सिटी, जेएनयू से लेकर आम लोग और कई नेता भी पहुंचे.

Source Article