चीन ने समुद्र पर बने दुनिया के सबसे लंबे पुल का किया उद्घाटन 

2
- Advertisement -

चीन ने सबसे लंबे सी लिंक का किया उद्घाटन

बीजिंग: चीन ने हांगकांग को मकाऊ और झुहेई शहर से जोड़ने वाले, समुद्र पर बने दुनिया के सबसे लंबे पुल को मंगलवार को आधिकारिक रूप से खोल दिया। समुद्र पर बना यह पुल 55 किलोमीटर लंबा है. राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने चीन के दक्षिणी ग्वांगदोंग प्रांत में झुहेई में आयोजित एक विशेष समारोह में 20 अरब डॉलर की लागत से बने पुल का उद्घाटन किया. इस कार्यक्रम में हांगकांग और मकाऊ के नेताओं समेत करीब 700 मेहमान शामिल हुए. हांगकांग स्थित साऊथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट की एक खबर के मुताबिक, शी ने एक वाक्य बोलकर इस पुल का उद्घाटन किया.
यह भी पढ़ें: भारत के सबसे लंबे पुल का उद्घाटन 26 मई को, चीन सीमा के पास बना है
चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिन्हुआ ने बताया कि पर्ल नदी के मुहाने पर लिंगदिंगयांग जल क्षेत्र में बना यह पुल समुद्र पर बना दुनिया का सबसे लंबा पुल है. पुल को सामान्य यातायात के लिए बुधवार से खोला जाएगा. इस पुल के निर्माण से हांगकांग और झुहेई के बीच यात्रा करने में लगने वाला तीन घंटे का समय घटकर 30 मिनट रह जाएगा. चीन के उप प्रधानमंत्री हान झेंग ने कहा कि यह पुल हांगकांग तथा चीन के मुख्य भूभाग को आर्थिक तथा व्यापार गतिविधियों के लिहाज से और करीब लाएगा. इस पुल से हांगकांग और मकाऊ को चीन के मुख्य भूभाग से जोड़ने में मदद मिलेगी.
टिप्पणियांVIDEO: इन दो राज्यों को जोड़ेगा देश का यह पुल.
गौरतलब है कि इससे पहले चीन ने विश्व का सबसे लंबा शीशे के पुल का भी उद्घाटन किया था. चीन के हुनान प्रांत में विश्व का सबसे लंबा और बड़ा शीशे का पुल सैलानियों के लिए खोला गया था. प्रबंधन समिति ने बताया था कि यह पुल 430 मीटर लंबा और छह मीटर चौड़ा है. इसमें पारदर्शी शीशों की तीन परतें हैं. इस पुल को जमीन से 300 मीटर ऊपर दो चट्टानों के बीच बनाया गया है. समिति के मुताबिक, पुल ने अपने अद्भुत डिजाइन और निर्माण की वजह से विश्व रिकॉर्ड बनाए था. खास बात यह है कि इस पुल पर प्रतिदिन अधिकतम 8,000 यात्रियों को आने की मंजूरी है और इसके लिए एक दिन पहले आरक्षण करवाना पड़ता है. (इनपुट भाषा से)
Source Article

- Advertisement -