चीन ने चांद पर उतारा यान, देखें पहली तस्‍वीर

1
- Advertisement -

चीन ने दुनिया का पहला अंतरिक्ष यान चांद के डार्क साइड (अंधेरे हिस्से) पर उतारा है.

चीन ने चांद पर बड़ी सफलता हासिल की है. उन्होंने दुनिया का पहला अंतरिक्ष यान चांद के डार्क साइड (अंधेरे हिस्से) पर उतारा है. Nytimes की खबर के मुताबिक, चीन का स्पेसक्राफ्ट चांग ई-4 (Chang'e-4) ने 3 जनवरी की सुबह चांद के हिस्से को छुआ. जिस हिस्से पर यान उतरा है वो धरती से काफी दूर है और इसके बारे में कोई बड़ी जानकारी नहीं है. चांद के इस हिस्से को डार्क साइड भी कहा जाता है. चीन ने चांग ई-4 (Chang'e-4) को 8 दिसंबर को लॉन्च किया था. 3 जनवरी को चीन को सफलता हासिल हुई. चीन ने 2013 में चांग ई-3 (Chang'e-3) को चांद पर उतार चुका है. China Xinhua News ने ट्विटर पर तस्वीरें और वीडियो भी पोस्ट किया है.

चंद्रमा की चट्टानों को खरीदने के लिए लगी करोड़ों की बोली, बाहरी दुनिया की ये चीजें बिकीं

Big breakthrough: China's Chang'e-4 probe soft-landed on the moon's uncharted side never visible from Earth, getting its first image pic.twitter.com/8FEjXFmLi3

— China Xinhua News (@XHNews) January 3, 2019

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, चाइना नेशनल स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन ने घोषणा कर बताया कि एक लैंडर और एक रोवर वाला अंतरिक्ष यान सुबह 10.26 बजे (बीजिंग समयनुसार) 177.6 डिग्री पूर्वी देशांतर और 45.5 डिग्री दक्षिण अक्षांश में चांद के अनदेखे हिस्से में उतरा जो पृथ्वी से कभी नजर नहीं आता.

- Advertisement -

रूस लगाएगा पता, क्या अमेरिकी वाकई गए थे चांद पर

"It was a great challenge fulfilled in a short time, and with high difficulty and risks." Check out these breathtaking photos of Chinese lunar probe Chang'e-4's 12-minute landing on a crater on the far side of the moon https://t.co/hSm6uZsDcEpic.twitter.com/GeItoxhMX9

— China Xinhua News (@XHNews) January 3, 2019

मकऊ यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नेलॉजी के प्रोफेसर जू मेनगुआ जो चीनी स्पेस एजंसी में काम करते हैं. उन्होंने कहा- 'ये स्पेस मिशन बताता है कि अंतरिक्ष की खोज में चीन कितना आगे निकल चुका है. चीन के लोगों ने ऐसा काम किया जो अमेरिका ने सोचा तक नहीं.' चीन अब अपने तीसरे स्पेस स्टेशन को 2022 तक संचालन करने की प्लानिंग कर रहा है.

What does the far side of the moon look like?
China's Chang'e-4 probe gives you the answer.
It landed on the never-visible side of the moon Jan. 3 https://t.co/KVCEhLuHKTpic.twitter.com/BiKjh7Fv22

— China Xinhua News (@XHNews) January 3, 2019

बता दें, चीन ने चांग ई-4 (Chang'e-4) को चीन के जीचांग शहर से 8 दिसंबर को लॉन्च किया गया था. उस वक्त अमेरिका में तारीख 7 दिसंबर थी. चांग ई-4 (Chang'e-4) ने 22 दिन बाद चांद को छुआ. ये यान अपने साथ एक रोवर भी लेकर गया है. लो फ्रीक्वेंसी रेडियो एस्ट्रोनॉमिकल ऑब्जर्वेशन की मदद से चांद के इस हिस्से के बारे में पता लगाएगा.

देखें VIDEO:

A historic first landing! China's Chang'e-4 probe touches down on far side of moon https://t.co/KVCEhLuHKTpic.twitter.com/h5iezwyC7W

— China Xinhua News (@XHNews) January 3, 2019

टिप्पणियां

चीन ने अंतरिक्ष की खोज के लिए चीन अकादमी ऑफ स्पेस टेक्नोलॉजी (CAST) की स्थापना 1968 में की थी. यहां 27 हजार से ज्यादा कर्मचारी हैं. यह अकादमी वर्ल्ड क्लास अकादमी में से एक है जो बेहतरीन स्पेसक्राफ्ट बनाती है.

Source Article