ग्राउंड पर बाउंसर से हुई थी इस खिलाड़ी की मौत, फूट-फूटकर रोए थे क्लार्क, देखें VIDEO

2
- Advertisement -

एक क्रिकेटर की मौत ने क्रिकेट वर्ल्ड को हिलाकर रख दिया था. 27 नवंबर 2014 को ऑस्ट्रेलिया के उभरते हुए खिलाड़ी फिलिप ह्यूज (Phillip Hughes) का निधन ग्राउंड पर ही हो गया था. उनकी मौत का कारण एक बाउंसर बनी थी. इस हादसे को क्रिकेट इतिहास का सबसे बड़ा हादसा माना जाता है. महज 25 साल की उम्र में फिलिप ह्यूज (Phillip Hughes 4th death anniversary) ने अपनी जान गंवा दी थी. 2014 में सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर शेफील्ड शील्ड गेम (Sheffield Shield game) खेला गया था.
VIDEO: जिस गेंदबाज की गेंद बनी थी फिल ह्यूज की मौत की वजह, उसके बाउंसर से फिर हुआ 'हादसा'
phillip hughes
साउथ ऑस्ट्रेलिया और न्यू साउथ वेल्स के बीच मैच खेला जा रहा था. फिलिप ह्यूज बल्लेबाजी कर रहे थे. सीन एबॉट की बाउंसर उनके हेलमेट के पास लगी और वो वहीं बेहोश हो गए. तीन दिन तक सिडनी अस्पताल में उन्होंने जिंदगी की जंग लड़ी और उनकी मौत हो गई. आज उनकी चौथी डेथ एनीवर्सिरी है.
India vs South Africa : 'खतरनाक खेल' में बदल गया है जोहानिसबर्ग टेस्ट, 10 बड़ी बातें
phillip hughes
क्रिकेट वर्ल्ड उनको याद कर रहा है. उनकी मौत के बाद उस वक्त ऑस्ट्रेलिया टीम के कप्तान माइकल क्लार्क ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी. जहां वो फूट-फूटकर रोए थे. उस वक्त पूरी मीडिया वहां मौजूद थी. माइकल क्लार्क, स्टीव स्मिथ और डेविड वॉर्नर उनके सबसे खास दोस्त थे.
टिप्पणियांमाइकल क्लार्क ने कहा- फिलिप ह्यूज की मौत के बाद संन्यास ले लेना चाहिए था
देखे उस वक्त की प्रेस कॉन्फ्रेंस का वीडियो-

"We love him and always will" – Michael Clarke breaks down while rememberg #PhilHugheshttps://t.co/0JuPWg5bDJ …” #63notout

— Kirandeep (@raydeep) November 29, 2014

न्यू साउथ वेल्स में जन्में फिलिप ह्यूज ने ऑस्ट्रेलिया की तरफ से 26 टेस्ट और 25 वनडे खेले थे. उनको ऑस्ट्रेलियन टीम का उभरता हुआ खिलाड़ी बताया जा रहा था. जिस वक्त ये हादसा हुआ वो 63 रन बनाकर खेल रहे थे. लोग उनको #63notout हैशटैग से याद कर रहे हैं. ऑस्ट्रेलिया में जब भी कोई खिलाड़ी 63 रन बनाता है तो फिलिप ह्यूज को याद किया जाता है.
Source Article

- Advertisement -