क्या महागठबंधन की कवायद लाएगा रंग? आज दिल्ली में राहुल गांधी से मिलेंगे चंद्रबाबू नायडू, बड़ा ऐलान संभव

2
- Advertisement -

राहुल गांधी से मुलाकात करेंगे चंद्रबाबू नायडू

नई दिल्ली: लोकसभा चुनाव 2019 से पहले बीजेपी के खिलाफ महागठबंधन की कवायद में जुटे आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू आज यानी गुरुवार को दिल्ली आ सकते हैं और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात कर सकते हैं. उम्मीद की जा रही है कि गैर बीजेपी पार्टियों को एकजुट करने की कोशिशों में जुटे चंद्रबाबू नायडू गुरुवार को दिल्ली में राहुल गांधी और अन्य विपक्षी नेताओं से भी मुलाकात कर सकते हैं. सूत्रों ने कहा कि इस साल के अंत दिसबंर में होने वाले तेलंगाना विधानसभा चुनाव में नायडू की पार्टी तेलुगू देशम पार्टी के साथ गठबंधन पर भी चर्चा हो सकती है. इतना ही नहीं, माना जा रहा है कि 2019 के आम चुनाव में बीजेपी को हराने के लिए भी गठबंधन की संभावनाओं पर चर्चा होगी.
2019 से पहले फिर 'महागठबंधन' की कवायद, क्या एनडीए के पूर्व सहयोगी चन्द्रबाबू नायडू होंगे कामयाब
कांग्रेस और चंद्रशेकर नायडू की पार्टी के बीच प्रारंभिक चर्चाएं राज्य के नेताओं द्वारा आयोजित की गई हैं और दोनों पक्ष सीट साझा करने के सूत्र को विकसित करने की कोशिश कर रहे हैं. अगर टीडीपी के साथ कांग्रेस का गठबंधन हो जाता है तो कांग्रेस के लिए दक्षिण में यह दूसरा अहम गठबंधन होगा. इससे पहले मई में कांग्रेस पार्टी ने कर्नाटक में भारतीय जनता पार्टी को सत्ता से बाहर रखने के लिए पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवेगौड़ा की जेडीएस के साथ गठबंधन किया था.
आंध्र प्रदेश: चंद्रबाबू नायडू के मंत्री पोंगुरू नारायण के स्कूलों-कॉलेजों पर इनकम टैक्स का छापा
माना जा रहा है कि कांग्रेस तेलंगाना में एक छोटी क्षेत्रीय पार्टी के साथ गठबंधन बनाने की भी कोशिश कर रही है. सीपीआई भी गठबंधन के लिए उत्सुक है, लेकिन सीट शेयरिंग का मुद्दा उसके लिए बाधा बन रही है.
आंध्र प्रदेश में पेट्रोल, डीजल कीमतों में 2 रुपये की कमी
बता दें कि आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा दिलाने की मांग को लेकर नायडू की पार्टी टीडीपी इसी साल मार्च में एनडीए से अलग हो गई थी. मगर उसके बाद से गैर बीजेपी गठबंधन की कवायद को तेज करने में चंद्रबाबू नायडू एक तरह से फैसिलिलेटर की भूमिका निभा रहे हैं. पूरे देश में विपक्षी एकता को मजबूत करने और गैर बीजेपी महागठबंधन को एक नई शक्ल देने के उद्देश्य से चंद्रबाबू नायडू आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और बसपा प्रमुख मायावती से भी मिल चुके हैं.
BJP की पूर्व सहयोगी पार्टी का ऐलान: भाजपा संपर्क भी करेगी तो हम 2019 के लिए NDA में शामिल नहीं होंगे
इतना ही नहीं, भाजपा के खिलाफ विपक्षी एकता अभी भी नवजात चरण में, इसलिए सभी विपक्षी दलों को एक छतरी के नीचे लाने के चंद्रबाबू नायडू के प्रयासों को समाजवादी नेता अखिलेश यादव का भी समर्थन मिल चुका है.
पीएम मोदी के भाषण पर विपक्ष की प्रतिक्रिया : कांग्रेस ने बताया 'ड्रामेबाजी', चंद्रबाबू नायडू ने कहा- पीएम खुद अहंकारी
टिप्पणियां सूत्रों का कहना है कि दिल्ली यात्रा के दौरान चंद्रबाबू नायडू अन्य विपक्षी नेताओं मसल, शरद पवार, नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला से भी मिल सकते हैं. इतना ही नहीं, माना यह भी जा रहा है कि वह कांग्रेस के सीनियर नेता वीरप्पा मोइली से भी मिल सकते हैं, जिन्होंने हाल ही में नायडू की टीडीपी को यूपीए में शामिल होने का न्योता दिया था.
VIDEO: विशेष दर्जे की मांग पर आंध्र के लोगों से धोखा किया गया : चंद्रबाबू नायडू
Source Article

- Advertisement -