केजरीवाल का आरोप- गंगा सफाई के लिए अनशन पर बैठे संत गोपाल दास को मोदी सरकार ने एम्स से कराया गायब

3
- Advertisement -

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की फाइल फोटो.

नई दिल्ली: गंगा की सफाई के लिए पिछले चार महीने से अनशन पर बैठे संत गोपालदास संदिग्ध हाल में एम्स से ही गायब हो गए. इसको लेकर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ ही मोर्चा खोल दिया है. उन्होंने पीएम मोदी पर ही संत को एम्स से गायब करवाने का आरोप लगा दिया. अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट करते हुए लिखा- संत गोपाल दास गौ रक्षा और गंगा सफ़ाई के लिए अनशन पर थे। उनको मोदी सरकार ने AIIMS से ग़ायब कर दिया है। उनके पिता को भी केंद्र सरकार नहीं बता रही कि उनको कहां ले गए। संत गोपाल दास असली गौ रक्षक हैं. उनके साथ मोदी सरकार का ऐसा बर्ताव? उन्हें तुरंत उनके पिता के सुपुर्द किया जाए.
वहीं आम आदमी पार्टी विधायक सोमनाथ भारती ने एक ट्वीट में लिखा- आखिरी चिठ्ठी संत गोपालदास जी की अपने पिताजी को।इसमें उन्होंने साफ साफ कहा है कि केंद्र सरकार को उनके दिल्ली में होने में तकलीफ़ है और उनको कहीं दूर डालना चाहती है।इससे ज्यादा सबूत क्या चाहिए?मोदी जी का मां गंगा के प्रति छलावा के कारण हमने प्रो अग्रवाल को खोया, अब संत गोपालदास?
टिप्पणियां

संत गोपाल दास गौ रक्षा और गंगा सफ़ाई के लिए अनशन पर थे। उनको मोदी सरकार ने AIIMS से ग़ायब कर दिया है। उनके पिता को भी केंद्र सरकार नहीं बता रही कि उनको कहाँ ले गए। संत गोपाल दास असली गौ रक्षक हैं। उनके साथ मोदी सरकार का ऐसा बर्ताव? उन्हें तुरंत उनके पिता के सुपुर्द किया जाए https://t.co/F9R57eH4GM

— Arvind Kejriwal (@ArvindKejriwal) December 5, 2018

बता दें कि ऋषिकेश से दिल्ली एम्स में भर्ती कराए गए गोपालदास से जब उनके पिता शमशेर मिलने पहुंचे तो वह बुधवार सुबह वॉर्ड में नजर नहीं आए. जिसके बाद पिता ने पुलिस को संत गोपालदास की गुमशुदगी की सूचना दी. बाद में संत गोपालदास को एक बार देहरादून के एक अस्पताल में भेजने की बात कही गई और दूसरी बार भोपाल एम्स में भेजे जाने की. हालांकि सोमनाथ भारती ने एक कथित चिट्ठी को ट्वीट किया, जिसमें संत गोपालदास अपने पिता को संबोधित करते हुए लिख रहे हैं कि केंद्र सरकार उनके अनशन से परेशान है और वह दिल्ली से दूर किसी कोने में भेजना चाहती है.
वीडियो- प्राइम टाइम: गंगा के लिए लड़ने वाला एक और भगीरथ चला गया
Source Article

- Advertisement -