कुछ ऐसे स्वामी विवेकानंद ने दी वीवीएस लक्ष्मण को इस पारी की प्रेरणा, आत्मकथा में अनसुने खुलासे

4
- Advertisement -

वीवीएस लक्ष्मण

मुंबई: भारत के सर्वकालिक महान बल्लेबाजों में से एक स्टायलिश वीवीएस लक्ष्मण के लिए 22 नवंबर का दिन बड़ा दिन है. आज देर शाम उनकी लिखी किताब "281 एंड बियोन्ड' रिलीज होगी और इसमें वीवीएस ने ऐसे खुलासे किए हैं, जिनके बारे में शायद ही आपने कभी पहले सुना हो या पढ़ा हो. कई पूर्व क्रिकेटर भी देर शाम मुंबई के पांच सितारा होटल में एकत्रित होंगे. इस दौरान कमेंटेटर हर्षा भोगले वीवीएस के साथ सवाल-जवाब करेंगे. इसी किताब में वीवीेस ने यह खुलासा किया कि कैसे स्वामी विवेकानंद की किताब ने उन्हें बेहतर करने के लिए प्रेरित किया. लक्ष्मण ने 134 टेस्ट मैचों में 45.97 के औसत से 8781 रन बनाए. इसमें उनके 17 शतक और 56 अर्धशतक भी शामिल हैं. वहीं खेले 86 वनडे मैचों में लक्ष्मण का औसत 30.76 का रहा.

My autobiography, #281AndBeyond is now available in the US, UK, Canada and Germany on Amazon. Get your copy today!
UK – https://t.co/TBadI14slZ
USA – https://t.co/oHY5lwFhNk
Canada – https://t.co/1uqD9MQ0NK
Germany – https://t.co/P7OSu8GHGnpic.twitter.com/ZBPBTl1eUv

— VVS Laxman (@VVSLaxman281) November 21, 2018

बता दें कि 22 नवंबर का दिन लक्ष्मण के लिए इस लिहाज से भी खास है कि इस दिन साल 1996 को लक्ष्मण ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अहमदाबाद में अपने 56 अर्धशतकों में करियर का पहला अर्धशतक बनाया था. लक्ष्मण ने किताब में लिखा है कि मैच से पहले उनके पिता ने उन्हें स्वामी विवेकानंद की किताब 'दस स्पेक' भेंट की थी. मैंने इस किताब को थोड़ा पढ़ा था. यह एक ऐसी किताब है, जो आपको प्रेरित करती है. लक्ष्मण लिखते हैं कि जिस समय तक मैं बल्लेबाजी करने के लिए क्रीज पर पहुंचा, तो मैं अपनी टीम के लिए बेहतर करने को लेकर बहुत ही दृढ़प्रतिज्ञ था. लक्ष्मण ने इस पारी में नाबाद पचासा जड़ा, जबकि पहली पारी में सिर्फ 11 रन बनाकर एलन डोनाल्ड की गेंद पर एलबीडब्ल्यू आउट हो गए थे.
यह भी पढ़ें: सचिन तेंदुलकर का पेरेंट्स को संदेश, बच्चों को उनके सपने के पीछे भागने दीजिए..

A really cracker of a game to begin what promises to be a really good series. Wonderful innings from Shikhar and useful contributions from DK and Pant but in the end Stoinis handled his nerves well. Good game nonetheless #AusvInd

— VVS Laxman (@VVSLaxman281) November 21, 2018

इस टेस्ट मैच में भारत ने पहली पारी में सिर्फ 223 रन बनाए थे, जिसके जवाब में दक्षिण अफ्रीकी पारी 244 पर ही सिमट गई थी. तीसरे दिन की समाप्ति पर लक्ष्मण पचास रन बनाकर नाबाद थे. भारत दूसरी पारी में 190 रन पर आउट हो गया. दक्षिण अफ्रीका को मैच जीतने के लिए 170 रन का लक्ष्य मिला, लेकिन मेहमान टीम सिर्फ 105 रन पर ढेर हो गई. श्रीनाथ ने 21 रन देकर छह विकेट चटकाए.
लक्ष्मण ने साल 2001 में मार्च में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 1998 में खेले गए ऐतिहासिक टेस्ट की यादगार घटना का भी जिक्र किया है, जिसमें उन्होंने 281 रन की पारी खेली थी. लक्ष्मण ने चौंकाने वाला खुलासा करते हुए कहा कि इस टेस्ट से पहले उन्हें टीम के नियमित प्रैक्टिस सेशन में अभ्यास भी नहीं कराया गया था. वह एक रिजर्व खिलाड़ी थे. लेकिन मैच से पहले उन्हें टीम में लिया गया, तो फिर इतिहास बन गया.
टिप्पणियांVIDEO: धोनी के टी-20 से टीम से बाहर होने पर क्रिकेट विशेषज्ञों की राय जानिए.
संयोग से इस टेस्ट की पूर्व संध्या पर कमेंटेटर हर्षा भोगले ने लक्ष्मण को नेट पर गेंदबाजी कर उन्हें अभ्यास कराया था. और अब किताब की लॉन्चिंग के मौके पर हर्षा ही लक्ष्मण के साथ किताब के अलग-अलग पहलुओं पर चर्चा करेंगे.
Source Article

- Advertisement -