कर्नाटक : तीन लोकसभा और दो विधानसभा क्षेत्रों में उपचुनाव आज, लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस-जेडीएस की अग्निपरीक्षा

3
- Advertisement -

कर्नाटक में आज तीन लोकसभा और दो विधानसभा क्षेत्रों में उपचुनाव होने जा रहा है.

बेंगलुरु: कर्नाटक में सत्तारूढ़ कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की परीक्षा होने वाली है, क्योंकि आज यानी शनिवार को तीन लोकसभा और दो विधानसभा क्षेत्रों में उपचुनाव होने जा रहा है. इस चुनाव के नतीजों का असर राज्य के राजनीतिक परिदृश्य पर पड़ने की संभावना है. चुनाव को महत्वपूर्ण माना जा रहा है. साथ मिलकर चुनाव लड़ने का फैसला करने वाले गठबंधन के दोनों भागीदारों ने इसे मई 2019 आम चुनाव का आगाज करार दिया है और राष्ट्रीय स्तर पर भाजपा के खिलाफ इसी तरह के महागठबंधन का आह्वान किया है.
कर्नाटक के मंत्रीजी ने खिलाड़ि‍यों को इस तरह फेंककर बांटे स्‍पोर्ट्स किट, वायरल हुआ VIDEO
तीन लोकसभा सीटों- बल्लारी, शिवमोगा और मांड्या के साथ ही रामनगर और जामखंडी विधानसभा क्षेत्रों में शनिवार को मतदान होगा. करीब 6,450 मतदान केंद्र बनाए गए हैं और कुल 54,54,275 योग्य मतदाता हैं.सभी पांच निर्वाचन क्षेत्रों में मुकाबले में कुल 31 उम्मीदवार हैं. हालांकि, मुख्य मुकाबला कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन और भाजपा के बीच है.
कर्नाटक के सीएम कुमारस्वामी का आदेश, जो फाइलें कन्नड़ में हों वही भेजें, अंग्रेजी नहीं चलेगी
इससे पहले चुनाव के ठीक दो दिन पहले यानी गुरुवार को भाजपा को उस समय झटका लगा था, जब कर्नाटक के रामनगर विधानसभा उपचुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के उम्मीदवार एल. चंद्रशेखर ने भाजपा का साथ छोड़ वापस कांग्रेस का दामन थाम लिया था. इस संबंध में उन्होंने कहा था कि वह भाजपा छोड़कर कांग्रेस में वापस लौट आए हैं. रामनगर विधानसभा उपचुनाव तीन नवंबर को होना है. 49 वर्षीय चंद्रशेखर पहले कांग्रेस में थे. वह रामनगर उप चुनाव लड़ने के लिए 10 अक्टूबर को भाजपा में शामिल हुए थे.
कर्नाटक : कांग्रेस और JDS ने BJP को बताया ‘साझा शत्रु', कहा- एकसाथ लड़कर जीतेंगे उपचुनाव
उन्होंने संवाददाताओं से कहा था, "जब मैंने रामनगर से पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़ने का फैसला किया तो भाजपा नेताओं ने मुझे समर्थन देने का वादा किया था. लेकिन (भाजपा नेताओं) में से कोई भी मेरा प्रचार करने के लिए आगे नहीं आया. इसलिए मैंने पार्टी छोड़कर वापस कांग्रेस में लौटने का फैसला किया है." बता दें कि चंद्रशेखर मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी की पत्नी अनीता कुमारस्वामी (जेडीएस) के खिलाफ चुनाव लड़ रहे थे.
कर्नाटक के कांग्रेस-जेडीएस सरकार से BSP बाहर, मंत्री एन महेश ने दिया इस्तीफा
टिप्पणियां उप चुनाव से दो दिन पहले और उम्मीदवार द्वारा नाम वापस लेने की अंतिम तिथि के बाद आए चंद्रशेखर के फैसले पर निर्वाचन आयोग के एक अधिकारी ने कहा कि उनका नाम इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में बरकरार रहेगा. बता दें कि आज होने वाले उपचुनावों के नतीजे छह नवंबर को आएंगे.
VIDEO: उपचुनाव से पहले बीजेपी को झटका
भाजपा को हराने के मकसद से गठबंधन सहयोगी जेडीएस और कांग्रेस उपचुनाव साथ लड़ रही हैं.
(इनपुट भाषा से)
Source Article

- Advertisement -