इंडिगो और स्पाइसजेट ने शुरू किया वेब-चेक पर हर सीट के लिए फीस, सरकार ने शुरू की समीक्षा

3
- Advertisement -

फाइल फोटो

नई दिल्ली: वेब-चेक पर हर सीट के लिए शुल्क वसूलने के एयरलाइंस कंपनियों के निर्णय की सरकार समीक्षा कर रही है. नागर विमानन मंत्रालय ने सोमवार को कहा कि वह देखेगी कि कंपनियों का यह फैसला मौजूदा नियमों के अनुरूप है या नहीं. सस्ती विमान सेवा देने वाली कंपनी इंडिगो और स्पाइसजेट ने 14 नवंबर से वेब चेकइन पर शुल्क वसूलना शुरू कर दिया. कंपनी के इस कदम की सोशल मीडिया पर काफी आलोचना हुई जिसके बाद नागर विमानन मंत्रालय ने कंपनियों के इस फैसले की समीक्षा का निर्णय किया है. मंत्रालय ने कहा कि कंपनियां वेब चेक-इन पर सभी सीटों के लिए शुल्क वसूल रही हैं, ऐसा हमारे संज्ञान में है लेकिन हम इसकी समीक्षा करेंगे कि यह अलग-अलग सेवाओं के लिए कीमत निर्धारण करने की मौजूदा व्यवस्था के अनुरूप है या नहीं.
VIDEO: पायलट ने पहली उड़ान भरने से पहले छुए मां और दादी के पैर, वजह जान छलक जाएंगे आंसू…
हालांकि तत्काल तौर पर यह नहीं कहा जा सकता कि अन्य बजट एयरलाइंस कंपनियों ने भी अपनी वेब चेक-इन व्यवस्था को बदला है या नहीं. इंडिगो ने अपने निर्णय में कहा है कि संशोधित नीति के अनुरूप वेब चेक-इन के दौरान सभी सीटों पर शुल्क वसूला जाएगा. वहीं आप हवाईअड्डे पर सभी सीट मुफ्त में चेक-इन कर सकते हैं. सीटों का आबंटन उपलब्धता के अनुरूप होगा.
टिप्पणियांसांसद की 'दादागिरी' : TDP सांसद ने एयरपोर्ट पर किया हंगामा, एयरलाइंस ने लगाया बैन
इनपुट : भाषा
Source Article

- Advertisement -