इंटरनेशनल मैच से पहले योगी सरकार ने बदला लखनऊ के स्टेडियम का नाम, अब ‘इकाना’ नहीं इस नाम से जाना जाएगा…

2
- Advertisement -

तीन मैचों की टी-20 सीरीज में भारत 1-0 से आगे है.

नई दिल्ली: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के इकाना स्टेडियम (Ekana Stadium) में मंगलवार (06 नवंबर) को 24 साल के इंतजार के बाद पहला अंतरराष्ट्रीय मैच खेला जाएगा. इससे पहले ही इस स्टेडियम का नाम बदल गया है. अब यह 'इकाना' नहीं बल्कि, अटल बिहारी वाजपेयी इंटरनेशनल स्टेडियम (Atal Bihari Vajpayee International Stadium) के नाम से जाना जाएगा. उत्तर प्रदेश के राज्यपाल ने राम नाईक ने स्टेडियम के नाम बदले जाने की स्वीकृति दे दी है. बता दें कि अभी हाल ही यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज किया है.
Ind vs WI T20: रोहित शर्मा ने हरफनमौला क्रुणाल पंड्या के बारे में कही यह 'बड़ी' बात…
50 हजार दर्शकों की क्षमता
स्टेडियम की क्षमता 50 हजार दर्शकों की है और यहां मैदान के हर कोने से दर्शक मैच का भरपूर लुत्फ उठा सकते हैं. इस स्टेडियम में 9 पिच हैं, शानदार ड्रेसिंग रूम है और दूधिया रोशनी का शानदार इंतजाम है.
योगी और राम नाईक भी स्टेडियम में देखेंगे मैच
इस टी-20 मैच को देखने के लिए प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ समेत कई कैबिनेट मंत्रियों के मौजूद रहने का कार्यक्रम है. राज्यपाल व मुख्यमंत्री के प्रस्तावित कार्यक्रम के कारण जिला प्रशासन स्टेडियम परिसर के अंदर व बाहर चाक चौबंद सुरक्षा इंतजाम की तैयारियों में जुट गया है.
जश्‍न के दौरान जडेजा ने की शरारत तो रोहित शर्मा ने केदार जाधव पर यूं उतारा 'गुस्‍सा', VIDEO
लो स्कोरिंग मैच की उम्मीद
टी-20 को हमेशा बल्लेबाजों के अनुकूल प्रारूप माना जाता है, लेकिन एक स्थानीय क्यूरेटर के अनुसार भारत और वेस्टइंडीज के बीच होने वाले दूसरे टी-20 मैच के कम स्कोर वाला होने की उम्मीद है. पिच क्यूरेटर के अनुसार पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम के लिए 130 से अधिक का स्कोर विजयी स्कोर साबित हो सकता है. क्यूरेटर ने बताया, 'निश्चित तौर पर यह बड़े स्कोर वाला मैच नहीं होगा.
भारत की पांच विकेट से जीत, कार्तिक-क्रुणाल ने बनाया आसान
पिच के दोनों तरफ लंबी सूखी घास
पिच के दोनों तरफ लंबी सूखी घास है और बीच में पिच टूटी हुई है. यह धीमे उछाल वाली पिच है और शुरुआत से ही स्पिनरों के बड़ी भूमिका निभाने की उम्मीद है.' उन्होंने कहा, 'इस पिच को ओडिशा के बालंगीर से मिट्टी लाकर बनाया गया है जो अपनी धीमी प्रकृती के लिए जानी जाती है. दोनों टीमों को रन बनाने और लंबी स्क्वायर बाउंड्री के कारण बड़े शॉट खेलने में दिक्कत होगी.'
टिप्पणियांओस बड़ी भूमिका निभाएगी
क्यूरेटर ने कहा, 'आउटफील्ड शानदार और तेज है, लेकिन ओस निश्चित तौर पर बड़ी भूमिका निभाएगी. उत्तर भारत में सर्दियां शुरू हो रही हैं और पहली गेंद से ही ओस बड़ी भूमिका निभाएगी. इसलिए गेंद तेजी से बाउंड्री की ओर नहीं जाएगी और बल्लेबाजों को काफी रन दौड़ने होंगे.
VIDEO : विश्व कप तक रोटेशन पॉलिसी?
Source Article

- Advertisement -