आंदोलनकारी किसानों ने कहा- राहुल गांधी ने वादे किए, समय आने पर हिसाब लेंगे

1
- Advertisement -

दिल्ली में शुक्रवार को किसानों के आंदोलन में राहुल गांधी समेत अनेक विपक्षी दलों के नेता पहुंचे.

नई दिल्ली: दिल्ली में किसानों के आंदोलन में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत कई विपक्षी दलों के नेता पहुंचे. इन नेताओं ने किसानों से उनकी समस्याएं सुलझाने के वादे किए. किसानों का कहना है कि सारी सरकारें एक जैसी होती हैं. कांग्रेस ने अपने शासन काल में कुछ नहीं किया. अब वादे किए हैं तो समय आने पर हिसाब लिया जाएगा.
एनडीटीवी ने किसानों से बात की. उनसे पूछा कि राहुल गांधी से लेकर सारे विपक्षी दल के नेता आए थे. उनसे क्या उम्मीद है? इस पर यूपी के पीलीभीत से आए राम कृपाल ने कहा कि हमें लगता है सब सरकार एक सी हैं. पहले वादा करती हैं फिर भूल जाती हैं. कांग्रेस ने भी 10 साल हमारे लिए कुछ नहीं किया था देखते हैं आगे क्या होगा.
बरेली से आए किसान प्रमोद ने कहा कि अब ये वादा तो करके गए हैं. अगर नहीं करेंगे तो जवाबदेही होगी इनकी. हम उम्मीद लेकर जा रहे हैं. किसान प्रेम प्रकाश ने कहा कि अभी तो हम बहुत तकलीफ में हैं. मोदी सरकार ने तो हमें बहुत मजबूर कर दिया है. लेकिन अब थोड़ी सी उम्मीद जागी है. नहीं होगा तो दुबारा संघर्ष करेंगे.
यह भी पढ़ें :किसानों की रैली में विपक्षी एकता का हुआ प्रदर्शन, नेताओं ने मोदी सरकार पर जमकर निकाली भड़ास
आंदोलन का नेतृत्व करने वाले योगेंद्र यादव से जब विपक्ष से उम्मीदों को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि हमें दूसरे विपक्षी दलों से बहुत ज्यादा उम्मीद नहीं है. जब ये सत्ता में थे तो कुछ खास किसानों के लिए किया नहीं. लेकिन ये वादा करके गए हैं किसानों से. अगर कर्ज माफ नहीं करेंगे तो झूठे कहलाएंगे. हमारे पास भी एक हथियार होगा इनसे पूछने के लिए. किसान आगे भी संघर्ष करते रहेंगे.
टिप्पणियांVIDEO : किसानों की रैली में विपक्षियों की एकता का प्रदर्शन
यादव ने कहा कि चुनाव हिंदू मुसलमान के मुद्दे पर नहीं बल्कि किसानों के मुद्दों पर हो. 2019 का चुनाव किसानों के मुद्दों पर होना चाहिए.
Source Article

- Advertisement -