अयोध्या के श्री सीताराम मंदिर में हुई इफ्तार पार्टी, पुजारी बोले- मैं भविष्य में…

1
- Advertisement -

प्रतीकात्मक तस्वीर

नई दिल्ली:

अयोध्या में सोमवार को कुछ ऐसा वाकया हुआ, जिसकी मिसाल न सिर्फ स्थानीय लोगों के लिए बल्कि देशभर में दी जा रही है. रमजान के महीने में अयोध्या के श्री सीताराम मंदिर में इफ्तार का आयोजन किया गया. रमजान के पाक महीने में सांप्रदायिक सौहार्द की मिसाल कायम करते हुए, धार्मिक भावनाओं से परे सोमवार को अयोध्या के श्री सीताराम मंदिर के परिसर में इफ्तार के लिए सभी एक साथ आए.

Ramadan 2019: इन खास SMS, शायरी और Photos से अपनों को दें रमजान की मुबारकबाद

न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए मंदिर के पुजारी युगल किशोर ने कहा, यह तीसरी बार है जब हम लोग इफ्तार पार्टी का आयोजन कर रहे हैं. मैं भविष्य में भी रमजान के दौरान ऐसे लगातार इफ्तार करता रहूंगा. हमें हर त्यौहार इसी उत्साह के साथ मनाना चाहिए. इफ्तार पार्टी में शामिल होने वाले मुजम्मिल फिजा ने कहा कि इसी तरह की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए, वह हर साल अपने हिंदू भाइयों के साथ नवरात्रि भी मनाते हैं.

- Advertisement -

मुजम्मिल फिजा ने कहा, "एजेंडा वाले लोग नहीं चाहते हैं कि सभी समुदाय एक साथ आए और इस तरह का आयोजन करें. देश में जो लोग धर्म के नाम पर राजनीति करते हैं, किशोर जैसे लोग प्रेम का संदेश देते हैं." रमजान (Ramadan) का पाक महीना 5 मई से शुरू हुआ है, जो कि 4 जून तक चलेगा. 30 दिनों के रोज़ों के बाद शव्वाल की पहली तारीख को ईद-उल-फितर (Eid al-Fitr) का त्योहार मनाया गया.

Ramadan 2019: इन देशों में रोजा ना रखने पर मिलती है कड़ी सजा, कहीं पड़ते हैं कोड़े तो कहीं होता है देश निकाला

टिप्पणियां

बता दें, पूरे महीने रोज़े के बाद जो ईद होती है जिसे ईद-उल-फितर कहते हैं. इसे मीठी ईद (Mithi Eid) भी कहा जाता है. रोज़ादार ईद के दिन नमाज से पहले गरीबों में फितरा बांटा जाता है.

(इनपुुट एएनआई से)

Source Article