अखिलेश ने BJP को सत्ता से हटाने का लिया संकल्प, फेडरल फ्रंट को लेकर काम करने के लिए KCR को दी बधाई

4
- Advertisement -

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा प्रमुख अखिलेश यादव.

नई दिल्ली:

समाजवादी पार्टी (SP) के मुखिया और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने संघीय मोर्चे (Federal Front) के लिए विपक्षी दलों को लामबंद करने में जुटे तेलंगाना के मुख्यमंत्री और टीआरएस प्रमुख केसीआर (KCR) को बधाई दी है. अखिलेश ने कहा कि, 'मैं तेलंगाना के मुख्यमंत्री को इस दिशा में काम करने के लिए बधाई देता हूं.. वह एक संघीय मोर्चा तैयार करने की कोशिशों में जुटे हैं. मैं उनसे मुलाकात करने हैदराबाद जाऊंगा. इसके अलावा अखिलेश यादव ने बीजेपी को देश से हटाने का भी संकल्प लिया. अखिलेश ने कहा कि समाजवादियों का संकल्प है कि बीजेपी देश से हटे. उसके लिए जो समाजवादी पार्टी को काम करना है, वो करेगी. पहली प्राथमिकता है कि बीजेपी हटे. अखिलेश ने महागठबंधन को लेकर भी बात की. उन्होंने कहा कि देश में महागठबंधन हो, किस रूप में सभी दल एक साथ आए, इसका प्रयास पिछले कई महीनों से लगातार चल रहा है. तेलंगाना के मुख्यमंत्री केसीआर जी इस प्रयास में काम कर रहे हैं. मेरी उनसे बात हुई है. मुझे 25 या 26 को उनसे मिलना था, लेकिन मैं दोबारा उनसे मिलने का समय मांगूंगा और मैं खुद उनसे मिलने हैदराबाद जाउंगा.

Samajwadi Party Chief, Akhilesh Yadav: Efforts to bring all parties together have been ongoing for many months; I congratulate Telangana Chief Minister for working in this direction. He has been trying to bring together a federal front, I'll go to Hyderabad to meet him. pic.twitter.com/Z5Mk2bTdKP

— ANI (@ANI) December 26, 2018

अखिलेश ने कहा कि आने वाले समय में उनका भी प्रयास है कि किस तरह से रिजनल पार्टी या एक फेडरल फ्रंट बने. उनकी कोशिश है कि एक फेडरल फ्रंट देश में बने, क्योंकि प्रदेश में तमाम जो मुख्यमंत्री रहे हैं, या जहां प्रदेश में कई जगहों पर अलग-अलग सरकारें हैं और जिन्होंने काम अच्छा किया है तो आने वाले समय में उनसे जरूर मिलूंगा.

- Advertisement -

यह भी पढ़ें: ममता बनर्जी से मिले केसीआर, टीडीपी और वामदलों ने फेडरल फ्रंट के आइडिया को नकारा

अखिलेश ने कहा कि आने वाले समय में किस तरह का गठबंधन होगा, कौन-कौन साथ आएंगे और कौन-कौन साथ आना चाहते हैं, ये विकल्प खुला है. उन्होंने कहा कि महागठबंधन बने और रिजनल पार्टियों को मिलाकर फेडरल फ्रंट बने. समाजवादियों का संकल्प है कि बीजेपी देश से हटे. उसके लिए जो समाजवादी पार्टी को काम करना है, वो करेगी. पहली प्राथमिकता है कि बीजेपी हटे.

यह भी पढ़ें: केसीआर ने ममता बनर्जी से की मुलाकात, कहा – यह संघीय मोर्चे की शुरुआत है

टिप्पणियां

अखिलेश यादव ने हनुमान जी को जाति पर सियासत को लेकर भी यूपी की बीजेपी सरकार पर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि जवाब नहीं दे पाए कि नौकरियां और रोजगार कैसे देंगे, तो यही तो करेंगे कि आप नमाज मत पढ़िये, धर्म में यह करिये. हमारे मुख्यमंत्री जी कितने अच्छे हैं! कहते हैं कि नवरात्री का व्रत रखना है तो बुंदी का लड्डू खा लो. और भी सुझाव देते हैं वो लोग. कहते हैं कि हनुमान जी कि तो यह जाति है. बजरंग बली यादव थे. हम खुद यादव हैं. हमें नहीं पता था कि बजरंग बली यादव हैं. उन्होंने कहा कि देश समझ चुका है कि बीजेपी ने लोगों को धोखा दिया है. बीजेपी ने जनता को जो सपने दिखाए थे, उसपर काम नहीं किया. सरकार की नाकामी जनता के सामने है.

VIDEO: 2019 के लिए अखिलेश यादव की तैयारी

Source Article