अखिलेश और मायावती से मुलाकात के बाद बोले तेजस्वी यादव- यूपी और बिहार तय करेंगे केंद्र में किसकी होगी सत्ता

5
- Advertisement -

तेजस्वी यादव और अखिलेश यादव.

नई दिल्ली:

लोकसभा चुनाव (Loksabha Election) को लेकर उत्तर प्रदेश में बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी के गठबंधन (BSP-SP Alliance) के गठन के बाद आरजेडी नेता तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने अखिलेश यादव और मायावती से मुलाकात की. सोमवार को अखिलेश यादव(Akhilesh Yadav) से मुलाकात के बाद तेजस्वी यादव ने कहा कि यूपी और बिहार में भाजपा का सूपड़ा साफ हो गया है, वह अब एक सीट भी नहीं जीत पाएगी. उन्होंने कहा कि ये दो प्रदेश यूपी और बिहार ही हैं, जो यह तय करेंगे कि केंद्र में किसकी सत्ता होगी.

तेजस्वी यादव ने कहा, 'देश पर खतरा मंडरा रहा है. ये लोग नागपुरिया कानून, आरएसएस का एजेंडा लागू करना चाहते हैं. मोहन भागवत पहले भी काम कर रहे थे कि आरक्षण को खत्म कर देना चाहिए या फिर इसे आर्थिक आधार पर दिया जाए. यह संविधान को खत्म करने जैसा काम है. ये लोग अपना एजेंडा लागू करना चाहते हैं.'

साथ ही उन्होंने कहा, 'भाजपा का यूपी और बिहार में सफाया हो चुका है. उपचुनाव में भी देखने को मिला, जहां सीएम और डिप्टी सीएम भी अपनी सीट नहीं बचा पाए. उस दौरान कांग्रेस भी अलग चुनाव लड़ी थी, लेकिन उसके बाद भी लोगों का अच्छा-खासा समर्थन मिला था. आने वाले चुनाव में भी यह गठबंधन काम करेगा और पूरे देश में यह जाएगा.'

- Advertisement -

टिप्पणियां

इसके अलावा उन्होंने कहा, 'अखिलेश जी और मायावती जी ने नागपुरिया कानून लागू होने से देश को बचाने की जो कोशिश की है, उसके लिए लोग उन्हें मानेंगे और बधाई देंगे. भाजपा ने यूपी में भी गठबंधन को तोड़ने की कोशिश की. अब सीबीआई एजेंसी नहीं रहीं, ये एनडीए के सहयोगी दल जैसी हो गई हैं. यह उन्हें फायदा पहुंचाने के लिए काम कर रही हैं. लालू यादव जी से नरेंद्र मोदी खतरा महसूस कर रहे थे, इसलिए ही लालू जी अभी जेल में हैं.'

तेजस्वी यादव ने साथ ही कहा कि कई पत्रकार और कलाकारों को गालियां दी जा रही है, उन्हें पाकिस्तान जाने के लिए कहा जा रहा है. जैसा देश का माहौल है, उसे देश की जनता देख रही है. आने वाले समय में पता लग जाएगा कि कौन कितना बेइमान है. आपके चौकीदार ने कितना बेइमानी का काम किया है.'

Source Article